Safed baal kale kaise honge घरेलू नुस्खे

Spread the love

Safed baal kale kaise honge घरेलू नुस्खे

आज के युग में ऐसा देखा जा रहा है कि कम उम्र में ही बच्चों के बाल सफेद होते जा रहे हैं, बच्चों के बाल का सफेद होने का सबसे बड़ा कारण यह है कि उनकी गलत डाइट तथा देर तक सोना समय से सुबह जल्दी ना उठना व्यायाम न करना तथा अपने खानपान में ज्यादातर तेल से बनी चीजों को लेने की वजह से आज कल के कम उम्र के बच्चों के बाल भी सफेद होते देखे जा रहे हैं । इससे छुटकारा पाने के लिए आपको प्रतिदिन व्यायाम करना होगा तथा अपने डाइट का आपको पूरा ख्याल रखना होगा Safed baal kale kaise honge घरेलू नुस्खे ||

Safed baal kale kaise honge घरेलू नुस्खे 

जी हां आपने बिल्कुल सही सोचा ऐसा शोधकर्ताओं के द्वारा माना जाता है कि यदि हम अपने जीवन शैली में ज्यादा तेल से बनी(Oily) चीजों का उपयोग करते हैं इसका हमारे शरीर पर तथा हमारे शरीर की हर अंगों पर बुरा असर पड़ता है ज्यादा तेल से बनी चीजों को खाने से हमें अपच (dysentery) हो जाती है तथा हमारा भोजन सामान्य रूप से नहीं पच पाता है, यदि हम अपने खानपान में ज्यादा से ज्यादा तेल से बनी चीजों का उपयोग करते हैं या हमारे शरीर पर भी बुरा असर डालता है, जिससे हम एक बहुत ही गंभीर बीमारी मोटापा (Obesity) से ग्रसित हो सकते हैं ।

यदि हम अपने खान-पान पर ध्यान ना दें तो हमारे बालों में डैंड्रफ तथा स्किन के साथ-साथ हमारे बाल भी कमजोर होते जाते हैं और अंततः वह झड़ने लगते हैं। आज का युग इस समस्या से बहुत परेशान है और यह समस्याएं आजकल बच्चों में भी देखी जा रही हैं। इस समस्या से छुटकारा पाने के लिए आजकल के बच्चे विभिन्न तरह के अलग-अलग प्रोडक्ट का इस्तेमाल करते हैं, उन्हें ऐसा लगता है कि अलग-अलग प्रोडक्ट के इस्तेमाल करने से उनके बाल वापस से मजबूत हो जाएंगे लेकिन ऐसा बिल्कुल नहीं होता उन प्रोडक्ट्स में ज्यादा से ज्यादा केमिकल्स का उपयोग किया जाता है

जिससे प्रारम्भ में तो उन्हें लगता है कि उनके बाल अच्छे हो जाएंगे लेकिन कुछ समय बाद वह बाल और भी कमजोर हो जाते हैं और अंततः वह कमजोर होने के वजह से झड़ने और टूटने लगते हैं तथा पहले की मात्रा में और भी ज्यादा बाल सफेद हो जाते हैं।

योगों के स्वामी रामदेव का भी ऐसा मानना है कि इस रोग से छुटकारा पाने के लिए प्रतिदिन हमें व्यायाम करना चाहिए तथा हमें अपने खानपान अर्थात अपने डाइट का भी संपूर्ण ध्यान रखना चाहिए। जिससे हमारे बालों को संपूर्ण रुप से आहार मिलता रहे तथा वह अच्छे से बढ़ सके और अंदर से मजबूत हो सके।

डैंड्रफ से भरे बाल व सफेद बालों से छुटकारा

डैंड्रफ से भरे बाल व सफेद बालों से छुटकारा पाने का सबसे कारीगर उपाय।

नीचे कुछ तथ्य दिए हुए हैं जिनमें बताया गया है कि आप अपने बालों को सफेद होने से कैसे बचा सकते हैं, उससे डैंड्रफ से भी कैसे मुक्त कर सकते हैं, कृपया इन तथ्यों को ध्यान से पढ़ें और नियमित रूप से उसका पालन करें जिससे आपके बाल भी सफेद होने से बच सकें तथा आपके बालों से डैंड्रफ अर्थात रूसी भी खत्म हो सके ऐसा करने से आपके बाल अंदर से भी मजबूत हो जाएंगे, कृपया इन तथ्यों को ध्यानपूर्वक पढ़ें।

यदि हमें ऐसा अनुभव हो कि हमारे बाल टूट रहे हैं तो हमें ज्यादा से ज्यादा विटामिन सी(Vitamin-c) का सेवन करना चाहिए। विटामिन सी हमें फलों से प्राप्त होता है जैसे आमला, संतरा, मुसम्मी, नींबू ऐसे फलों से हमें ज्यादा से ज्यादा विटामिन सी प्राप्त होता है और विटामिन सी हमारे बालों को अंदर से मजबूत करता है। आंवला से बने हम कैंडी वगैरह का भी उपयोग कर सकते हैं, विटामिन सी को लेने के लिए।

हमें अपनी डाइट में अधिक से अधिक हरी सब्जियों का उपयोग करना चाहिए। और हमें ज्यादा तेल से बनी चीजों का सेवन नहीं करना चाहिए तथा ज्यादा मसाले से बनी चीजों का भी सेवन नहीं करना चाहिए, इससे हमारे शरीर पर तथा हमारे बालों पर बुरा असर पड़ता है। जिससे हमारे बाल कमजोर हो जाते हैं। टूटकर गिरने लगते हैं या सफेद हो जाते हैं, और भी अन्य तरह की परेशानियां देखी जाती हैं।

हमें रोजाना सुबह उठकर तुलसी से बना या गिलोय से बना या एलोवेरा से बने हुए जूस का सेवन करना चाहिए। इनका सेवन करने से हमारे बाल काले भी हो जाते हैं, तथा हम बहुत से अन्य बीमारियों से भी बहुत दूर रहते हैं। एलोवेरा का जूस पीने से हमें कभी गैस की बीमारी नहीं होती, तुलसी का सेवन करने से हमें जल्दी अंदरूनी कोई रोग नहीं होता तथा गिलोय का जूस पीने से हमें कभी भी बुखार, खांसी, जुखाम, सर्दी आदि नहीं होता है। यह सारी आयुर्वेदिक चीजें हैं जो हमें अंदर से तथा बाहर से रोगों से लड़ने से बचाती हैं तथा हमारी रोगों से लड़ने की क्षमता को भी बढ़ाती हैं, अर्थात इम्यूनिटी ( Immunity) को मजबूत करती हैं इन चीजों का सेवन करने से हमारे बाल भी मजबूत होते हैं, तथा हमारे बाल काले भी होते हैं। इनका सेवन करने से रोजाना हमारे बालों पर काफी अच्छा असर पड़ता है।

शोधकर्ताओं का माने तो एक भृंगराज नाम का पौधा होता है जो इस तरह के रोगों में काफी कारीगर होता है। जो हमारे बालों को अंदर से मजबूत रखता है तथा काले होने में मदद करता है, यदि आपको भृंगराज का पौधा कहीं से मिल जाता है तो अपने घर ले आए और लगाएं तथा रोजाना उसकी एक पति को चूसे से या फिर उनकी पत्तियों का रस निकालकर के रोजाना थोड़ा-थोड़ा सेवन करें, जिससे हमारे बाल काले हो जाएंगे तथा अंदर से भी काफी मजबूत हो जाएंगे। इनका हमारी बालों पर काफी अच्छा प्रभाव पड़ता है जिससे हमारे बाल काफी मजबूत हो जाते हैं।

क्या शिकाकाई( रीठा ) के उपयोग से बाल काले होते हैं?

तो मैं आपको बता दूं कि जी हां रीठा शिकाकाई का हमारी बालों पर काफी अच्छा प्रभाव देखने को मिलता है। आप अपने बालों को शैंपू से ना धूल करके चाहे तो आप आंवले को पानी में उबाल लें तथा उसका उपयोग करें। अपने बालों को बोलने के लिए रीठा, शिकाकाई को पानी में उबाल लें और उस पानी से अपने बालों को धो लें, जिससे हमारे बालों को काफी पोषण मिलता है तथा हमारे बाल काले काले से चमचमाते हुए दिखते हैं। रीठा, शिकाकाई का हमारे बालों पर काफी अच्छा असर देखने को मिलता है।

इस प्रकार से उपयोग करने से सफेद बालों को 1 सप्ताह में काला कर देगा यह कारीगर उपाय|

तो मैं आपको बता दूं आपको क्या करना है सबसे पहले आपको थोड़ा सा पानी लेना है जिसमें आपको रीठा,शिकाकाई व आंवले को भिगो देना है, तथा इसे रात भर के लिए छोड़ दें अगले दिन उसी पानी से अपने बालों को धीरे-धीरे धोवे वह साफ करें ऐसा करने से आपके बाल मजबूत भी होंगे तथा काले भी हो जाएंगे और 1 सप्ताह के अंदर आपके बालों में बदलाव नजर आने लगेगा ऐसे इसे आजमाएं आप खुद देखेंगे कि आप को कितना फायदा हो रहा है। इस प्रकार से उपयोग करने में आपके बालों को काफी फायदा होगा आपके बाल झड़ने से भी बच जाएंगे तथा काले व चमकदार भी हो जाएंगे।

Read also:-

Disclaimer:-

The website does not surely guarantee a Safed baal kale kaise honge घरेलू नुस्खे 100% accuracy of the figures. The above information is sourced from Google and various websites/ news media reports.

Copyright Disclaimer under section 107 of the Copyright Act 1976, allowance is made for “fair use” for purposes such as criticism, teaching, scholarship, comment, news reporting, education & Research.

 

Leave a Comment